योगी आदित्यनाथ के मंत्री राम नरेश अग्निहोत्री का बेतुका बयान, कहा- आम आदमी की मानसिकता ही खराब

नरेंद्र मोदी सरकार के मंत्री संतोष गंगवार के उत्तर भारत के युवाओं को लेकर दिए गए बयान का मामला अभी ठंडा भी नहीं पड़ा था कि योगी आदित्यनाथ सरकार के एक मंत्री ने आम आदमी को लेकर विवादित बयान दे डाला। फ़तेहपुर के प्रभारी मंत्री मंगलवार को समीक्षा बैठक कर रहे थे। भ्रष्टाचार के सवाल पर कैबिनेट मंत्री रामनरेश अग्निहोत्री ने कहा कि आम आदमी की मानसिकता ही खराब है।

फतेहपुर के प्रभारी मंत्री और योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री रामनरेश अग्निहोत्री मंगलवार को पहली बार जिले में विकास कार्यों की समीक्षा बैठक के लिए विकास भवन पहुंचे थे। गांधी सभागार में पत्रकारों से बातचीत के दौरान भ्रष्टाचार के सवाल पर कहा कि आम आदमी की मानसिकता ही खराब है, इसलिये इसको खत्म करने में समय लगेगा। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार एक दिन, एक महीने या दस साल में खत्म होने वाली चीज नहीं है, इसे खत्म करने में वक्त लगेगा और हमारी सरकार इस तरफ काम भी कर रही है।

नौकरशाही के खून में है भ्रष्टाचार

यूपी सरकार भ्रष्टाचार खत्म करने का हर प्रयास कर रही है, लेकिन यह जल्दी जाने वाला नहीं है। चूंकि दशकों से भ्रष्ट माहौल में काम कर रही नौकरशाही (अधिकारी व कर्मचारी) के खून तक में भ्रष्टाचार मिल चुका है। इसे फिल्टर होने में समय लगेगा। यह बात आबकारी एवं मद्य निषेध कैबिनेट मंत्री राम नरेश अग्निहोत्री ने कही। उन्होंने कहा कि योगी आदित्यनाथ प्रदेश के अब तक के सबसे ईमानदार मुख्यमंत्री हैं, भ्रष्ट नौकरशाही को सुधारने के लिए वह लगातार प्रयास कर रहे हैं।

मंगलवार को कलेक्ट्रेट के गांधी सभागार में पत्रकारों से बात कर रहे थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन के अवसर पर जिले के विकास कार्यों की समीक्षा व भाजपा के भिन्न भिन्न आयोजित कार्यक्रमों में हिस्सा लेने पहुंचे थे। एक सवाल के जवाब में कहा कि ठेके में बिकने वाली शराब तय रेट से अधिक में बेची जाती है तो इसके लिए आबकारी अधिकारी को जिम्मेदार बनाते हुए कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी। बिहार की तर्ज पर यूपी में शराब बंदी के प्रश्न टाल दिया।

सड़क पर बेसहारा पशुओं के बारे में कहा कि यह देश भर में समस्या है, यूपी में इससे निपटने के लिए काम हो रहे हैं। बेरोजगारों के लिए नौकरी के बारे में कहा कि यूपी में जितने बेरोजगार हैं उतनी नौकरी नहीं हैं, इसलिए युवाओं को स्वत: रोजगार से जोड़ने के लिए सरकार प्रेरित कर रही है। इसके परिणाम भी दिखाई देने लगे है। यूपी में योग्य प्रतिभाओं के बारे में केंद्रीय राज्यमंत्री के बयान पर नो कमेंट्स कह कर पल्ला झाड़ लिया।

इससे पहले मोदी सरकार में मंत्री संतोष गंगवार ने बरेली में एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि आज देश में नौकरी की कोई कमी नहीं है, लेकिन उत्तर भारत के युवाओं में काबिलियत नहीं है।