मुख्‍यमंत्री फडणवीस ने शाह से की मुलाकात, बोले- जल्‍द बनेगी नई सरकार

मुंबई: महाराष्ट्र में नई सरकार के गठन को लेकर जारी गतिरोध के बीच अपनी अपनी शर्तों पर अड़ी शिवसेना और भाजपा में बयानों के तीर जारी हैं। अब महाराष्‍ट्र सरकार के पर्यटन मंत्री एवं धुले Dhule से भाजपा नेता जय कुमार रावल (Jay Kumar Rawal) ने कहा है कि BJP नेता राज्‍य में दोबारा चुनाव के लिए तैयार हैं। उन्‍होंने भाजपा के साथ मिलकर चुनाव लड़ने वाली शिवसेना के व्‍यवहार पर भी नाराजगी जताई। दूसरी ओर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी प्रमुख शरद पवार आज सोमवार को नई दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात करेंगे। बताया जा रहा है कि दोनों पार्टियों के शीर्ष नेताओं के बीच महाराष्ट्र के ताजा राजनीतिक हालात पर चर्चा होगी।

इस बीच महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने सोमवार को भाजपा अध्‍यक्ष अमित शाह से मुलाकात की। समाचार एजेंसी पीटीआइ आधिकारिक बयान के हवाले से बताया है कि बैठक में फडणवीस ने केंद्रीय गृहमंत्री से उन किसानों के लिए केंद्र से आर्थिक मदद की मांग की जिनकी फसलें भारी बारिश की चपेट में आकर बर्बाद हो गई हैं। हालांकि, बैठक के बाद उन्‍होंने संवाददाताओं से कहा कि मैं नई सरकार के गठन पर कुछ भी नहीं बोलना चाहता हूं। मैं केवल यह कहना चाहता हूं कि नई सरकार जल्‍द बनेगी। मालूम हो कि  मौजूदा विधानसभा का कार्यकाल नौ नवंबर को खत्म हो रहा है। इससे पहले राज्य में सरकार का गठन कर लिया जाना चाहिए। चुनाव के नतीजे आने के बाद से किसी भी पार्टी की ओर से सरकार गठन को लेकर कोई पहल नहीं हुई है। इस बार भाजपा को 105, शिवसेना को 56 सीटें मिली हैं। लेकिन दोनों के अपनी शर्तों पर अड़ने के कारण सरकार बनाने की पहल नहीं हो पा रही है।

भाजपा नेता रावल ने संवाददाताओं से कहा कि शिवसेना के व्‍यवहार से भाजपा कार्यकर्ताओं में नाराजगी है। शिवसेना ने भाजपा के साथ गठबंधन के सहयोगी के तौर पर चुनाव लड़ा था लेकिन नतीजे आने के बाद अपना रुख बदल लिया। शिवसेना अब हमे ब्‍लैकमेल कर रही है। यदि वह भाजपा को सरकार बनाने में मदद नहीं करती है तो हम लोग दोबारा चुनाव के लिए तैयार हैं। राज्‍य के लोग प्रधानमंत्री मोदी, अम‍ित शाह और देवेंद्र फडणवीस के साथ है। वहीं शिवसेना भी कहा है कि भाजपा यदि उसके 50-50 फॉर्मूले को नहीं मानती है तो वह कांग्रेस और राकांपा के साथ मिलकर सरकार बनाएगी।

बता दें कि कल शिवसेना सांसद संजय राउत ने अपनी पार्टी के पास सरकार बनाने के लिए 170 से ज्यादा विधायकों का समर्थन होने का दावा किया था। उन्होंने कहा था कि यदि भाजपा सरकार बनाने में असमर्थ रही तो शिवसेना का मुख्यमंत्री स्व. बालासाहब ठाकरे के समाधिस्थल शिवतीर्थ पर शपथ लेगा। राउत ने राकांपा नेता अजीत पवार को मोबाइल से संदेश भेजकर संपर्क साधने की कोशिश भी की। शिवसेना के वरिष्ठ नेता राउत ने रविवार को पत्रकारों से कहा कि सरकार बनने की राह में सबसे बड़ा रोड़ा झूठ बोलने वाले लोग हैं, जो अपने किए गए वादे से पीछे हटते दिखाई दे रहे हैं।

हालांकि, दोनों दलों के नेताओं की नजरें भाजपा अध्‍यक्ष अमित शाह पर जाकर टिक गई हैं। नेताओं को लगता है कि अब अमित शाह ही कोई हल निकाल सकते हैं। हालांकि, उनकी चुप्‍पी भी शिवसेना को परेशान कर रही है। कल संजय राउत ने महाराष्ट्र के मामले में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की चुप्पी को रहस्यमय करार देते हुए कहा था कि हरियाणा जैसे छोटे राज्य में शुरू हुई अड़चन के समय अमित शाह ने पहल करके जिस तरह हल निकाला, महाराष्ट्र जैसे बड़े राज्य में भी वह हल निकाल सकते थे। वहीं बेमौसम बरसात से बेहाल किसानों का हाल जानने औरंगाबाद गए शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने कल कहा कि आप जल्दी ही शिवसेना की सरकार बनते हुए देखेंगे।

WHAT DO YOU THINK?

Please enter your comment!
Please enter your name here