एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा ने बंदूक छोड़ ‘धनुष-बाण’ थामा, शिवसेना में हुए शामिल

मुंबई: पूर्व एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा ने ‘गन’ छोड़कर ‘धनुष-बाण’ थाम लिया है. वे शुक्रवार को शिवसेना में शामिल हो गए. धनुष-बाण शिवसेना का चुनाव चिह्न है. शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने शर्मा के हाथ मे शिवबंधन बांधकर उन्हें पार्टी में शामिल किया. शर्मा ने कहा कि दिवंगत बाल ठाकरे उन्हें अपने बेटे जैसा मानते थे. जब भी सर्विस में कोई दिक्कत आती थी तो साहब मदद करते थे. वहीं उद्धव ठाकरे ने कहा कि अभी तक शर्मा की गन बोलती थी अब मन बोलेगा. माना जा रहा है कि प्रदीप शर्मा को शिवसेना विधानसभा चुनाव में नालासोपारा से अपना उमीदवार बना सकती है.

विवादित एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा पुलिस की नौकरी छोड़ शिवसेना में शामिल हो गए. 100 से ज़्यादा एनकाउंटर अपने नाम कर चुके प्रदीप शर्मा जेल भी जा चुके हैं हालांकि बाद में अदालत से बरी हो गए.

महाराष्ट्र सरकार ने ‘इन्काउन्टर स्पेशलिस्ट’पुलिस अफसर प्रदीप शर्मा का इस्तीफा स्वीकार किया

प्रदीप शर्मा ने आखिर शिवसेना को ही क्यों चुना? इस बारे में शर्मा का कहना है कि दिवंगत बाल ठाकरे उन्हें अपने बेटे जैसा मानते थे. जब भी सर्विस में कोई दिक्कत आती थी तो साहब मदद करते थे.

90 के दशक में जब मुंबई में गैंगवार चरम पर था तब प्रदीप शर्मा, विजय सालसकर और दया नायक जैसे पुलिस अधिकारियों ने बदमाशों के एनकाउंटर कर अंडरवर्ल्ड का खात्मा करने में अहम भूमिका निभाई थी और सुर्खियां भी बटोरी थीं. लेकिन 2006 का लखन भैया एनकाउंटर प्रदीप शर्मा के गले की हड्डी बन गया था. शर्मा को जेल जाना पड़ा था. हालांकि बाद में बरी होकर वापस खाकी में आ गए और अंडरवर्ल्ड सरगना दाऊद इब्राहिम के भाई इकबाल कासकर को सलाखों के पीछे भेजकर पुराने दाग मिटाने में लग गए.

‘एनकाउंटर स्पेशलिस्ट’ प्रदीप शर्मा का पुलिस बल से इस्तीफा, यहां शुरू कर सकते हैं अपनी नई पारी 

अब सियासत में शामिल होकर शर्मा नेता बनने की राह पर चल पड़े हैं. खबर है कि शिवसेना प्रदीप शर्मा को नालासोपारा से टिकट देकर वसई विरार में एक छत्र राज करने वाले ठाकुर परिवार से राजनीतिक एनकाउंटर करवा सकती है. पुलिस की नौकरी छोड़ सियासत का दामन थामने वाले  प्रदीप शर्मा ने बंदूक छोड़ अब धनुष-बाण थाम लिया है. पहले उनके निशाने पर गुंडे होते थे, अब विपक्षी नेता होंगे.

WHAT DO YOU THINK?

Please enter your comment!
Please enter your name here