17 साल की किशोरी के साथ ज्यादती

अलीगढ़: उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां एक किशोरी के इज्जत की कीमत पंचायत ने महज पांच जूते आंकी। पंचायत ने दुष्कर्म के दो आरोपियों को पांच-पांच जूते मरवाए और उनका मुंह काला कर छोड़ दिया। लेकिन पंचायत के फरमान से दुखी होकर किशोरी ने घर आकर फांसी के फंदे से लटककर जान दे दी। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर दो को गिरफ्तार कर लिया है। एसएसपी मुनिराज ने कहा- पंचायत पर भी कार्रवाई होगी।

23 अप्रैल को हुई थी घटना

दादों क्षेत्र के एक गांव निवासी 17 साल की लड़की 23 अप्रैल की सुबह शौच के लिए खेत गई थी। घर लौटते समय गांव के दो युवकों ने उसे दबोच लिया और खेत में खींच ले गए। दोनों आरोपियों ने किशोरी के साथ ज्यादती की। इसके बाद आरोपी फरार हो गए। हालांकि, परिजनों का आरोप है कि, ज्यादती करने वाले पांच आरोपी थे। वारदात के बाद किशोरी निर्वस्त्र ही घर पहुंची, जिसे देखकर घरवाले सन्न रह गए। किशोरी ने रोते बिलखते हुए पूरी बात परिजनों को बताई।

पंचायत ने मामला निपटाया

मामला पुलिस के पहुंचने से पहले कुछ लोग इसे दबाने में जुट गए। चूंकि पीड़ित व आरोपी पक्ष एक ही वर्ग थे, इसलिए सुलह समझौते का प्रयास शुरू हो गया। गांव में पंचायत बुलाई गई। किशोरी को भी बुलवाया गया। पंचों ने निर्णय लिया कि किशोरी दोनों को पांच-पांच चप्पल मारे। पंचों के सामने बेबस किशोरी ने ऐसा ही किया। फिर दोनों युवकों के मुंह काले करके भविष्य में ऐसा करने पर कठोर कार्रवाई की चेतावनी देकर छोड़ दिया गया

पंचायत के बाद पीड़ित को दी गई थी धमकी 

आरोप है- युवती पंचायत से लौटकर अपने घर जा रही थी, तभी ज्यादती करने वाले युवकों ने उसे रास्ते में रोककर जान से मारने की धमकी दी और फब्तियां कसी। आहत होकर किशोरी ने फांसी लगाकर जान दे दी। किसी ग्रामीण ने पुलिस को सूचना दी। तब पुलिस गांव में पहुंची और शव कब्जे में लिया। एसएसपी मुनिराज ने बताया- जिन लोगों ने पंचायत की उनके खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी। मामले की जांच के लिए टीम बना दी है।